• July 30, 2021 6:37 am

सरकार की ओर से डाक्टरों की मांगे न मानी जाने पर जिले के सभी डाक्टर शुक्रवार को चंडीगढ़ में प्रदर्शन करेंगे

Copy

हिमाचल मीडिया पंजाब ब्यूरो

 

सरकार की ओर से डाक्टरों की मांगे न मानी जाने पर जिले के सभी डाक्टर शुक्रवार को चंडीगढ़ में प्रदर्शन करेंगे

 

पठानकोट:अविनाश / पंकज/पीसीएमएसए डाक्टरों की सरकार की ओर से मांगे माने जाने पर जिले के सभी डाक्टरों ने पैरलल ओपीडी भी बंद कर दी है। अस्पतालों में लांग लीव के पोस्टर लगाकर डाक्टर हड़ताल पर रहे। दूर दराज से आने वाले मरीज अोपीडी में इधर-उधर भटकते रहे। सिर्फ इमरजेंसी सेवाएं ही चली बाकी ओर कोई मेडिकल सुविधा नहीं मिली। ओपीडी बंद होने से पर्ची काउंटर भी बंद रहा, जिस वजह से सिविल की सरकारी ओपीडी शून्य रही है। दो घंटे डाक्टरों की स्टेट बाडी के साथ मीटिंग चली। जिसमें यह निर्णय लिया गया कि सरकार की ओर से डाक्टरों की मांगे न मानी जाने पर जिले के सभी डाक्टर शुक्रवार को चंडीगढ़ में प्रदर्शन करेंगे।

 

वीरवार रहेंगे हड़ताल पर, शुक्रवार को होगा चंडीगढ़ प्रस्थान 

 

पीसीएमएसए के जिलाध्यक्ष डा. मदर मट्टू ने कहा कि वीरवार को इसी तरह पैरलल ओपीडी बंद रखी जाएगी और शुक्रवार को स्टेट बाडी के फैसले अनुसार चंडीगढ़ में जिले के सभी पीसीएमएसए डाक्टर धरना प्रदर्शन करने के लिए पहुंच रहे है और इमरजेंसी डयूटी वाले डाक्टर अपनी रूटीन वाइज सेवाएं निभाएंगे। ताकि इमरजेंसी काम प्रभावित न हो।

 

तीन सौ लोग लौटे खाली हाथ

 

सिविल में पैरलल ओपीडी शुरू होने से रोजाना चार से पांच सौ मरीजों का उपचार डाक्टरों की ओर से किया जा रहा था। मंगलवार को डाक्टर फिर अपनी सेवाएं ठप्प करके हड़ताल पर होने के कारण करीब तीन सौ लोग बिना उपचार करवाए खाली हाथ घरों को लौटे है।

Advertisements

Leave a Reply

Copy
Advertisements