• July 30, 2021 7:46 am

महिला सफाई कर्मी ने RAS का एग्जाम ट्रेनिंग के बाद SDM के पद पर उनकी पोस्टिंग होगी

Copy

महिला सफाई कर्मी ने RAS का एग्जाम ट्रेनिंग के बाद SDM के पद पर उनकी पोस्टिंग होगी

सच कहा है किसी ने कि अगर हौंसले बुलंद हों तो किसी भी मंजिल को पाना मुश्किल नहीं, यह सच कर दिखाया राजस्थान की एक नगर निगम महिला सफाईकर्मी आशा कण्डारा ने

आशा कण्डारा जोधपुर की रहने वाली है। पिता राजेंद्र कंडारा है जो लेखा सेवा से रिटायर हो चुके हैं। आशा की शादी 1997 में जोधपुर के निवासी शख्स से हुई थी। इनके दो बच्चे है ऋषभ और पल्लवी। शादी के पांच साल बाद पति से अलग होने के बाद भी आशा ने हिम्मत नहीं हारी और खुद अपने दोनों बच्चों की परवरिश के साथ-साथ पढ़ाई भी जारी रखी, आरएएस परीक्षा के 12 दिन बाद बनीं सफाईकर्मी ।

साल 2016 में आशा ने स्नातक की डिग्री हासिल की। साल 2018 में राजस्थान प्रशासनिक सेवा (RAS) का एग्जाम दिया। पिछले दो साल से आशा सड़कों पर झाड़ू लगाया करती थी। अब मंगलवार रात को राजस्थान लोक सेवा आयोग अजमेर ने आरएएस परीक्षा 2018 का रिजल्ट जारी किया है, जिसमें आशा को 700 से अधिक रैंक मिली है, वो अब एक अफसर बन गई हैं।

ट्रेनिंग के बाद SDM के पद पर उनकी पोस्टिंग होगी। लेकिन आशा के लिए ये रास्ता इतना आसान नहीं था।आशा ने बताया की उनका सपना सिविल सर्विसेस में जाने का ही था, मुझे यहां तक पहुचनें की प्रेरणा ताने सुनकर मिली। लोगो ने मुझे हर रोज ताने सुनाएं हैं, जातिवाद को लेकर मेरे तलाक को लेकर पर मैंने भी सोचा लिया था कि मैं कुछ ऐसा करके दिखाउंगी, जिससे ये लोग मुझे ताने नही बल्कि मुझ पर गर्व करेगें।

Advertisements

Leave a Reply

Copy
Advertisements