• July 30, 2021 6:09 am

जंगल में सात दिनों बाद बेसुध अवस्था में मिला व्यक्ति उपचार हेतु पहुंचाया अस्पताल

Copy

जंगल में सात दिनों बाद बेसुध अवस्था में मिला व्यक्ति उपचार हेतु पहुंचाया अस्पताल

सच ही कहा किसी ने “जाको राखे साइयां मार सके ना कोई” यह कहावत अभी तक तो चंबा जिले के गांव गुआड़ी के हंसराज पर मिली जानकारी के अनुसार तो सिद्ध होती हुई नजर आ रही है।

आपको बताते चलें कि 6-7 दिनों से जंगल में बेसुध रहने पर भी जीवित बच गया, अब उसे चंबा मेडिकल कॉलेज में भर्ती करवाया गया है ।

8 जुलाई को हंसराज पांगी से तीसा की तरफ अपने घर आ रहा था कि रानीकोट के जंगल मेंं पांव फिसलने से गहरे नाले में गिर गया और बेेहोश हो गया। जब हंंसराज घर नहीं पहुंंचा तो परिजनों ने तलाश शुरू कर दी । रिश्तेदारों के पास भी गए लेकिन कुछ पता नहीं चला, परिजनों ने 13 जुलाई को पुलिस के पास हंसराज के गुमशुदा होने की शिकायत दर्ज करवाई और परिजनोंंंं सहित स्थानीय लोग स्वंय भी हंसराज को  ढूंढने लगे अंततः 15 जुलाई को जब परिजन व स्थानीय लोग  तलाश करते हुए रानीकोट के जंगल पहुंचे तो वहां हंसराज घायल अवस्था में मिला।

हंसराज को उपचार के लिए चंबा मेडिकल कॉलेज लाया गया , जहां टांग में गंभीर चोट की वजह से उन्हें भर्ती किया गया है । डॉक्टरों ने उनकी टांग के ऑपरेशन की बात कही है ।

हंसराज निवासी गुआड़ी गांव , डाकघर तरेला के रूप में हुई है ।

Advertisements

Leave a Reply

Copy
Advertisements